Call Us for Consultation
Close

शिवलिंग पर भगवान शिव की पसंदीदा चीज चढ़ाने से भोलेनाथ प्रसन्न होते हैं। आगे पढ़ें शिवलिंग पर इलायची, व काली मिर्च चढ़ाने के क्या फायदे हैं ?

देवों के देव महादेव की पूजा सिर्फ साधारण मनुष्य ही नहीं बल्कि देवी-देवता भी करते हैं। शिव जी के हाथों में इस पूरे सृष्टि के जीवन और मृत्यु की बागडोर है। पूरे सृष्टि का विनाश एवं कल्याण सब महादेव के ही हाथों में है। यही वजह है हिंदू धर्म में भगवान शिव के पूजन को सर्वोच्च स्थान दिया गया है।

ऐसी धार्मिक मान्यता है कि यदि विधि विधान के साथ भगवान शिव की पूजा आराधना की जाती है तो शिवजी प्रसन्न होते हैं और मनुष्य के सभी कष्टों को खत्म करते हैं, अकाल मृत्यु के भय को समाप्त करते है।

जैसा कि कहा गया है ‘अकाल मृत्यु वो मरे जो काम करे चांडाल का। काल उसका क्या बिगाड़े, भक्त जो महाकाल का’, धार्मिक मान्यता के अनुसार जो व्यक्ति सच्चे मन से शिवजी की भक्ति में लीन होता है, कोई भी कष्ट उसके पास मंडरा भी नहीं सकता।

भोलेनाथ की पूजा में उनके निराकार स्वरूप शिवलिंग का भी विशेष स्थान है। दुनिया में कोई भी ऐसा शिव मंदिर या शिवाला नहीं है जहां पर शिवलिंग मौजूद न हो। ऐसी धार्मिक मान्यता है कि शिवलिंग के अभिषेक के बिना भगवान शिव की पूजा अधूरी है।

शिवलिंग का अभिषेक मुख्यतः पानी और दूध से किया जाता है। लेकिन इसके अलावा भी शिवलिंग पर शिव जी के पसंदीदा कई और चीजें चढ़ाई जाती हैं। जैसे बेलपत्र, काला-सफेद तिल, मूंग, इलायची, काली मिर्च, चावल इत्यादि। शिवलिंग पर चढ़ाए जाने वाली सभी चीजों का अपना अलग-अलग धार्मिक महत्व, एवं फायदे हैं।

आगे इस पोस्ट में पढ़ें शिवलिंग पर इलायची व काली मिर्च चढ़ाने के क्या फायदे हैं ?

शिवलिंग पर इलायची चढ़ाने के फायदे

शिवलिंग पर इलायची व काली 1

धार्मिक मान्यता के अनुसार इलायची को मां पार्वती की शक्ति का प्रतीक माना जाता है। भगवान शिव जिन्हें पुराणों में अर्धनारीश्वर भी बताया गया है, ऐसी मान्यता है कि उनके निराकार स्वरूप शिवलिंग पर जब इलायची अर्पित की जाती है तो इससे भगवान शिव अत्यंत प्रसन्न होते हैं। धार्मिक मन्यता के अनुसार शिवलिंग पर इलायची चढ़ाने के फायदे कुछ इस प्रकार हैं-

  • शिवलिंग पर इलायची चढ़ाने से भगवान शिव अत्यंत खुश होते हैं और सभी मनोकामनाओं को पूर्ण करते हैं।
  • यदि किसी व्यक्ति का लंबे समय से कोई कार्य पूरा नहीं हो रहा है, तो उसे शिवलिंग पर इलायची चढ़ाना चाहिए इससे कार्य में आ रही अड़चन खत्म होती है, और कार्य पूरा होता है।
  • शिवलिंग पर इलायची चढ़ाना करियर की दृष्टि से भी महत्वपूर्ण है। यदि कोई व्यक्ति बार-बार नौकरी प्राप्त करने में असफल हो रहा है तो ऐसे में शिवलिंग पर इलायची चढ़ाने से नौकरी में सफलता मिल सकती है।
  • धार्मिक मान्यता के अनुसार शिवलिंग पर इलायची चढ़ाने से आर्थिक समस्याएं दूर होती हैं, आय में वृद्धि होती है।

शिवलिंग पर काली मिर्च चढ़ाने के फायदे

शिवलिंग पर इलायची व काली 2

ज्योतिष शास्त्र में काली मिर्च को महाशक्ति का प्रतीक माना गया है। इस दिव्य शक्ति का आशीर्वाद प्राप्त है। पूजा पाठ में इसका इस्तेमाल आध्यात्मिक समस्याओं जैसे – रोग दोष इत्यादि से निजात पाने के लिए किया जाता है। शिवजी की पूजा में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। शिवलिंग पर काली मिर्च चढ़ाने के फायदे कुछ इस प्रकार हैं –

  • शिव पुराण के अनुसार यदि कोई व्यक्ति शिवलिंग पर काली मिर्च अर्पित करता है तो उस व्यक्ति को हर रोग से मुक्ति मिलती है। इसके साथ ही परिवार के अन्य सदस्य भी स्वस्थ रहते हैं।
  • शिवजी से जुड़े खास दिनों पर यानी महाशिवरात्रि या श्रावण मास में शिवलिंग पर काली मिर्च चढ़ाने से सुख एवं समृद्धि की प्राप्ति होती है।
  • धार्मिक मान्यता अनुसार अपनी मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए नियमपूर्वक शिवलिंग पर एक दाना काली मिर्च और सात दाने काले तिल के एक साथ चढ़ाने चाहिए।
  • शिवलिंग पर काली मिर्च चढ़ाने से कुंडली से जुड़े दोषों से भी मुक्ति मिलती है। धार्मिक मान्यता के अनुसार यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में राहु, केतु या शनि ग्रह से जुड़े दोष हो तो उसे नियमित तौर पर शिवलिंग पर काली मिर्च अर्पित करना चाहिए। इससे लाभ मिलता है।

शिवलिंग पर हल्दी चढ़ाना चाहिए ?

शिवलिंग पर इलायची व काली

हल्दी को बहुत ही शुभ माना गया है। हर पूजा-पाठ में इसका इस्तेमाल भी किया जाता है। परंतु भगवान शिव की पूजा में हल्दी का इस्तेमाल कभी भी नहीं किया जाता। ऐसी धार्मिक मान्यता है कि शिवजी की पूजा में हल्दी का इस्तेमाल करने से शिवजी नाराज हो जाते हैं। लेकिन इसके पीछे की वजह क्या है ?

दरअसल धार्मिक मान्यताओं में हल्दी का संबंध स्त्रियों से बताया गया है। शिवजी एवं शिव जी का निराकार स्वरूप शिवलिंग पुरुष तत्व है। यही वजह है की शिवलिंग पर भूलकर भी हल्दी नहीं चढ़ानी चाहिए। अन्यथा फायदे की जगह नुकसान हो सकता है।

Read This Also: शिवलिंग पर जल कैसे चढ़ाएं, चढ़ाने का मंत्र, सही तरीका व समय

Add Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *