Call Us for Consultation
Close

शनि, राहु एवं केतु के दुष्प्रभाव को कम करता है काला तिल। शिवलिंग पर काले अथवा सफेद तिल चढ़ाने के हैं कई फायदे। आगे पढ़ें-

हिंदू धर्म में शिवजी एवं शिवलिंग के पूजन का विशेष महत्व है। विधि विधान के साथ शिवजी की पूजा करने से और शिवलिंग का अभिषेक करने से जीवन की सभी अड़चने खत्म होती है और मन की सभी मनोकामनाएं पूरी होती है।

शिव जी के निराकार स्वरूप शिवलिंग के पूजन के कुछ विशेष नियम होते हैं। शिवलिंग की पूजा करते समय इन नियमों का पालन करना बेहद आवश्यक होता है। शिवलिंग को घर में किस प्रकार स्थापित किया जाए, औरतों द्वारा शिवलिंग का पूजन किस प्रकार किया जाए ? इन सबसे जुड़े नियम बनाए गए हैं। इसके साथ ही शिवलिंग पर क्या चीज चढ़ाई जाए और क्या ना चढ़ाई जाए इससे जुड़े भी कुछ नियम होते हैं। किस दिन शिवलिंग पर क्या चढ़ाया जाना चाहिए इससे संबंधित नियम भी बनाए गए हैं।

आगे इस पोस्ट में हम पढ़ेंगे की शिवलिंग पर काले अथवा सफेद तिल चढ़ाना चाहिए या नहीं, और यदि चढ़ाना चाहिए तो इससे जुड़े फायदे क्या है ? सफेद तथा काले तिल से जुड़ी धार्मिक मान्यताएं क्या है ?

काले तिल का धार्मिक महत्व

शिवलिंग पर काले व सफेद तिल 7

ज्योतिष शास्त्र में काले तिल का इस्तेमाल ग्रहों की शांति के लिए बहुत कारगर बताया गया है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार किसी भी पूजा पाठ में काले तिल का इस्तेमाल शुभ फलदायक होता है। काले तिल से किया गया उपाय कुंडली में शनि, राहु एवं केतु के अशुभ प्रभाव को कम करता है। शनि देव की प्रतिमा के समक्ष तेल के दीपक में कुछ दाने काले तिल के डालकर जलाने से शनि देव प्रसन्न होते हैं और उनकी कृपा मिलती है। काले तिल से किए गए उपाय कुंडली से कालसर्प दोष, अकाल मृत्यु से जुड़े दोषों को खत्म करता है। इसके साथ ही कुंडली से शनि की साढ़े साती एवं ढैय्या के अशुभ प्रभाव भी खत्म होते हैं।

शिवलिंग पर काले तिल चढ़ाना चाहिए या नहीं ?

शिवलिंग पर काले व सफेद तिल 6

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार पूजा पाठ में काले तिल का इस्तेमाल बहुत ही महत्वपूर्ण और शुभ फलदायक होता है। अब सवाल यह उठता है कि क्या शिवलिंग पर काले तिल चढ़ाने चाहिए या नहीं ? और यदि हां तो इससे जुड़े फायदे क्या है ? और साथ ही शिवलिंग पर काले तिल चढ़ाने के क्या नियम है ?

धार्मिक मान्यता के अनुसार यूं तो शिवलिंग पर दूध, पानी से अभिषेक करना बेहद शुभ माना जाता है। इसके साथ ही शिव जी को अत्यंत प्रिय बेलपत्र, धतूरे एवं भांग को भी शिवलिंग पर अर्पित किया जाता है। जब शिवलिंग का रुद्राभिषेक किया जाता है तो इस दौरान शिवलिंग पर गुलाल भी चढ़ाया जाता है। लेकिन इन सब के अलावा शिवलिंग पर काले तिल को चढ़ाना भी बहुत शुभ माना जाता है।

शिवलिंग पर काले तिल चढ़ाने के फायदे

शिवलिंग पर काले व सफेद तिल 5
  • धार्मिक मान्यतानुसार शिवलिंग पर काले तिल चढ़ाने से भगवान शिव अत्यंत प्रश्न होते हैं और सभी मनोकामनाओं को पूरा करते हैं।
  • सोमवार के दिन शिवलिंग के सामने मिट्टी के दिए में घी का दीपक जलाकर उसमें काले तिल का सात दाना डालने से कुंडली से राहु, केतु एवं शनि का दुष्प्रभाव कम होता है।
  • शनिवार के दिन शिवलिंग पर काले तिल अर्पित करने से शिव जी के साथ-साथ शनि देव भी प्रसन्न होते हैं और शनि के अशुभ प्रभाव नष्ट होते हैं।
  • कुंडली में शनि एवं सूर्य की युति होने पर शिवलिंग पर काले तिल चढ़ाने से इसका दुष्प्रभाव खत्म होता है।
  • प्रतीक सोमवार को शिवलिंग पर काले तिल चढ़ाने से तरक्की के मार्ग खुलते हैं।
  • शिवलिंग पर काला तिल अर्पित करने से मन की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं, और कुंडली के सभी दोष खत्म होते हैं।

शिवलिंग पर काले तिल कैसे चढ़ाएं ?

शिवलिंग पर काले व सफेद तिल 8

शिवलिंग पर काला तिल चढ़ाना शुभ होता है परंतु इसके लिए सही विधि का ज्ञान होना आवश्यक है। शिवलिंग पर तिल चढ़ाने के कुछ नियम होते हैं जिनका पालन करना आवश्यक होता है। आईए जानते हैं शिवलिंग पर तिल कैसे अर्पित करें –

  • जल से अभिषेक करते समय लोटे से भारी जल में काले तिल के सात दाने डाल कर शिवलिंग पर चढ़ने से लाभ मिलता है।
  • काले तिल को बिना जल में डाले भी शिवलिंग पर अर्पित किया जा सकता है, इसके लिए सात साबुत काले तिल के दाने को अपनी हथेली पर रखकर आपके दिल में जो भी मनोकामना है उसके लिए प्रार्थना करते हुए शिवलिंग पर तिल अर्पित करें।
  • सावन महीने पर नियमित तौर पर शिवलिंग का जलाभिषेक करते हुए उसमें काले तिल के दाने डालकर शिवलिंग पर अर्पित करने से बहुत लाभ मिलता है।

सफेद तिल का महत्व

शिवलिंग पर काले व सफेद तिल

मनुस्मृति के मुताबिक सफेद एवं काले दोनो प्रकार के तिल धार्मिक दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण होते हैं। धार्मिक मान्यता के अनुसार काला तिल षटकर्म के लिए महत्वपूर्ण है जबकि सफेद तिल लक्ष्मी कर्म के लिए महत्वपूर्ण माना जाता है। अर्थात पूजा पाठ में सफेद तिल का इस्तेमाल करने से आर्थिक लाभ की प्राप्ति होती है और दरिद्रता दूर होती है।

शिवलिंग पर सफेद तिल चढ़ाने के फायदे

शिवलिंग पर काले व सफेद तिल 2

धार्मिक मान्यता के अनुसार यदि जल में सफेद तिल डालकर शिवलिंग का अभिषेक किया जाता है, तो इससे शिवजी प्रसन्न होते हैं और सभी मनोकामनाओं को पूरा करते हैं। सफेद तिल का अभिषेक करने के पश्चात शिवलिंग पर बेलपत्र चढ़ाने से भाग्य का साथ मिलता है।

जिन व्यक्तियों की कुंडली में चंद्रमा कमजोर होता है या चंद्रमा ग्रह से जुड़ा कोई कष्ट होता है तो उन्हें सोमवार के दिन शिवलिंग पर सफेद तिल चढ़ाने से लाभ मिलता है। इसके साथ ही मंदिर में दूध एवं चावल का दान करना भी लाभदायक होता है।

यदि परिवार में कोई व्यक्ति लंबे समय से किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हो, तो ऐसे में जल में सफेद तिल मिलाकर शिवलिंग पर अभिषेक करने से बीमारी से निजात मिलती है।

धार्मिक मान्यता के अनुसार शिवलिंग पर सफेद तिल चढ़ाने से संतान सुख की प्राप्ति मिलती है।

Read This Also: शिवलिंग पर चढ़ा हुआ जल पीना चाहिए या नहीं ?

Add Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *